DEPRESSION ( अवसाद )

नमस्कार दोस्तों 

आज हम जानेगे  DEPRESSION  ( अवसाद ) के बारे में, की यह क्या चीज है ? और किस किस कारणों से होता हैं ! 
अवसाद या डिप्रेशन यह एक ऐसी बीमारी है जो सीधा इंसान को बीमार करता है, इसका असर बहुत खतरनाक साबित होता है, इसका सीधा असर हमारे दिमाग में होता है और इंसान मानसिक तौर पर बीमार हो जाता है उसके दिमाग में उसका नियत्रण नही रहेता है ! 

क्यों होता है, इंसान अवसाद में :- 

जब भी इंसान को असफलता लगातार मिलती है लगातार वह व्यक्ति हताश रहेता है जब उसके मन में आत्मविस्वास की कमी रहती है तो वह व्यक्ति  अपने आप को सबसे कमजोर तथा भीड़ में अकेला महेसूस करता है तब वह व्यक्ति  अवसाद DEPRESSION  का शिकार हो जाता है ! इस स्थिति में उसका दिमाग सही तरह से कार्य नही करता है और वह गलत कदम उठा लेता है !

आज के इस  COMPETITION भरी जिंदगी में हर क्षेत्र में अव्ल आने के दौड़ में हर इंसान लगा रहेता है, हर किसी को अपने समाज में अपने सोसाइटी में अपना नाम बनाने के लिये, कितना दबाव रहेता है, वही पर बच्चो को अपने शिक्षा के क्षेत्र में अव्ल आने का दबाव बना रहेता है. जब ये सब स्थान हमे प्राप्त नही होता है तब इंसान दबाव में अवसाद के घेरे में आ जाता है और इसका असर हमारे परिवार में भी देखने को मिलता है 

अवसाद के वर्ग :- 

1. शिक्षा के क्षेत्र में :- आज के युग में हर व्यक्ति अपने बच्चो को शिक्षा के क्षेत्रो में हमेशा अव्ल आने का                                       लगातार दबाव  बनाते है, उन्हें दुसरो के बच्चो  से तुलना की जाती है, तथा उन लोगो को दुसरे के बच्चो से अच्छा करने के लिये प्रेशर दिया जाता है जिसमे हर बच्चा खरा नही उतर पाता  है  जिसके कारण बच्चा DEPRESSION  अवसाद में आ जाता है तथा कभी कभी बच्चे गलत कदम भी उठा लेते है !


2. समाज में सोसाइटी में :- आज का  युग में,  लोगो की तुलना करने की आदत ही लोगो को डिप्रेशन में                                               लाती है सोसाइटी  में अपना नाम तथा स्तर को बनाये रखना एक बहुत बड़ी चुनौती है, इस  सोसाइटी  में  इस समाज में उस स्तर को अगर ना बना पाये तो आदमी डिप्रेशन मे आ जाता है !


3. बेरोजगारी :-  हर व्यक्ति अपनी योग्यता के अनुसार शिक्षित है तथा अधिकतर लोग कई ऊचे ऊचे                                  स्तर पर भी शिक्षा प्राप्त किये हुये है परन्तु हमारे इस बेरोजगारी  की समस्या अच्छे अच्छे लोगो को अवसाद में डाल देता है, व्यक्ति को जब अपनी क्षमता अपनी योग्यता के अनुसार काम मिलता है तब इंसान हताश हो जाता है तथा लगातार हताश डिप्रेशन में ले जाने का कार्य करता है !



4. परिवार का प्रभाव :- आज के युग में  सयुक्त परिवार हमे कही भी देखने को नही मिलती है सभी लोग                                        अलग अलग रहेना पसंद करते है जिसमे कई परिवार में अन्य परिस्थितियों में प्रया: विवाद की स्थिति बनी रहती है जिसके कारण परिवार के अन्य  सदस्यों में डिप्रेशन बना रहेता है !



सार :- डिप्रेशन का कोई क्षेत्र नही होता है यह कभी भी कही भी आ सकता है, अवसाद बेहद गभीर                      बिमारियो में से एक है जिसका कोई डॉक्टरी इलाज नही है, मानव जब अपने जीवन से हार जाता है, या अपने क्षेत्रो में या अपने कार्यो में अपने मेहनत के फलस्वरूप फल प्राप्त नही कर पाता है तो वहा अवसाद में चला जाता है!

* उपचार 

जब कभी भी लगे की आप अवसाद या डिप्रेशन में है तो ये कुछ उपाय  आप अपने उपर लागू कर सकते है जो आप को  इस अवसाद से निकलने में, सहायक हो सकता है ! 

1. तुलना करना बंद करे, हमेशा अपने क्षमता के अनुसार ही कार्य करे !

2. नियमित व्यायाम करे तथा योग और ध्यान करे ! 

3. अपनी कार्य की हमें श तारीफ करे अपने कार्य को सराहे !

4. दुसरो की हमेशा मदद करे तथा दुसरो को भी मदद करने के लिये प्रेरित करे !

5. अपने दोस्तों तथा परिवार को समय दे अपने बातो को उनको बताये आपने दोस्तों या परिवार से पुराने मीठे          यादो को ताजा करे !

6.अपने नाना नानी या दादा दादी के गाँव जाये और वहा के वातावरण का आनदं ले !

7. जितना ही सके सोशल मिडिया से दूर रहे तथा अपने मोबाइल फ़ोन का उपयोग कम करे !

8. अपने कला को पहचाने और उसमे कार्य करे, जैसे :- पेटिंग, गायकी, लेखकी इत्यादि !

9.  हिल स्टेशन घुमने जाये !

10. हमेशा सकरात्मक सोचे, जितना अच्छा सोचेगे उतना ही आप को अच्छा लगेगा !


आज के टॉपिक के लिये इतना ही तब तक के लिये फिट रहो हिट रहो !






Previous Post
Next Post
Related Posts

0 Comments:

please do not enter any spam link in the comment box