आँखों के लिए महत्वपूर्ण (Important For Eyes)

नमस्कार दोस्तों,

आज का हेल्थ टिप्स में हम बात करेगे आखो के बारे में, आखिर क्या क्या कारण है जिसके कारण आखो को नुकसान पहुचता है 

जैसे की हम जानते है की हमारे शरीर का मत्वपूर्ण  अंग है आख, उसके बिना जीवन बिलकुल बेझलक है 
आख के बिना जीवन अंधकार है, आखे हमारे शरीर के सबसे नाजुक और महत्वपूर्ण अंगो में से एक है ! नाजुक और सवेंदनशील होने के कारण आँखों को हमेशा अतिरिक्त देखभाल की जरूरत पड़ती है और थोड़ी सी लापरवाही आँखों के लिये खतरनाक हो सकती है 

लगातार कंप्यूटर मोबाइल फोन टेबलेट का इस्तमाल  हमारे आँखों को नुकसान पहुंचा रहे है !

आँखों की नुकसान पहुचने के कारण :-

1. कम रोशनी में पढना 

यह सबसे बड़ा कारण है आँखों को नुकसान पहुचाने में, कम रोशनी में पढने पर हमारे आँखों में कई समस्या का समाना करना पड़ता है, हमे इस बात का ख्याल रखना चहिये की जिस जगह पर हम पढ़ रहे है वह पर पर्याप्त मात्रा में रोशनी हो और कम रोशनी में लेटकर पढने की आदत भी सेहत के लिए हानिकारक होती है ! अंधेरे में पढने से हमारी आँखों की पुतलिया फ़ैल जाती है और धीरे धीरे नजदीक और दूर की चीजो में फर्क करना मुश्किल हो जाता है !

2  कंप्यूटर तथा मोबाइल का लगतार इस्तमाल 

कंप्यूटर तथा मोबाइल के लगतार इस्तमाल से हमारे आँखों का सीधा सपर्क होता है जिससे हमारे आँखों में नुकसान पहुचता है ! कम्पूटर तथा मोबाइल की स्क्रीन हमारे आँखों के बेहद पास होती है जिसके कारण आँखों की मूवमेंट कम होती है जिससे लम्बे समय तक हमारा फोकस एक ही जगह पर होती है ! कंप्यूटर तथा मोबाइल के अधिक प्रयोग से आँखों में आई सिंड्रोम जैसे समस्या आती है और आँखों की नमी कम होने लगती है !

3. लगातार स्क्रीन को देखना 

आज कल सारे काम मोबाइल तथा कम्पूटर पर ही होते है मोबाइल , कंप्यूटर का चलन भी अब बढ़ रहा है जो बेहद खतरनाक है आँखों के लिये , कंप्यूटर मोबाइल से निकलने वाली किरणे सूरज से निकलने वाली परबगनी किरणों जैसे घातक होते है कई लोगो को इससे अनिद्रा की भी शिकयात हो जाती है !

4. लगातार पलके न झपकने से 

सामन्यता हमारे आँखों की पलक 15-20 बार 1 मिनट में झपकती है परन्तु मोबाइल तथा कंप्यूटर से इस्तमाल के समय पलक झपकना 4-5 बार हो जाता है जिससे हमारे आँखों में अस्हेजता, खुजली महसूस होती है, कम पलक झपकने से आँखों को ड्राई आई सिंड्रोम  और खुजली हो सकती है !

आज के ब्लॉग में इतना ही तब तक क्र लिये फिट रहो हिट रहो !

Previous Post
Next Post
Related Posts

0 Comments:

please do not enter any spam link in the comment box