बचपन में मोटापा ( Childhood obesity)

हेलो दोस्तों

आज हम बात करगे बचपन में मोटापा का ! अक्सर हम देखते है की आज कल लगभग सभी बच्चे छोटी सी ही उम्र में मोटापा का शिकार हो रहे है, आज हर 3 बच्चा आज हमे मोटा दिखाई पड़ता है आखिर इस मोटापा का क्या करण है इसके बारे में हम आज जानेगे तथा इस समस्या का समाधान करने की कोशिश करेगे !

बच्चो में  मोटापे का करण :

1. खाना :- आज के समय में बच्चो का खान पान बिलकुल भी ठीक नही है,बच्चा  कुछ  भी खा लेता है !आज कल बच्चे घर का खाना तो खाते ही नही है हमेशा बाहर का खाना ही इन्हे पसंद आता है, बाहर के खाने में बहुत ज्यादा फैट होता है तथा  अनुउपयोगी तेल मसाला इत्यादि का प्रयोग भोजन में किया जाता है जिससे शरीर को बहुत नुकसान तथा बॉडी फैट बहुत ज्यादा मात्र में बढता है !

2. सोना :-  बच्चे को अपने शरीर के अनुसार पूर्ण नीद लेनी चहिये परन्तु बच्चे पूरी नीद नही लेते जिसके करण अनिद्रा होने के करण कई तरह की बीमारी होती है जिसमे मोटापा प्रमुख्य है !

3. न खेलना :- आज के इस भौतिक जीवन में इंसान हर जगह खाली जमीन का इस्तमाल इस तरह कर रहा है की आज कही पर भी खाली जमीन है ही नही, जिसका असर बच्चो पर हो रहा है मैदान ना होने पर बच्चे आज कल बहारी खेल नही खेल पा रहे है जिसके करण उनके शरीर पर प्रभाव पड़ रहा है !

4. मोबाइल का प्रयोग :-  मोटापा बढने का सबसे बड़ा करण है मोबाइल ! आल्ज कल बच्चा, जवान ,बुजुर्ग हर कोई मोबाइल पर ही आखे गढ़ये रहते है , दिन भर मोबाइल के इस्तमाल से बच्चे आउटडोर गेम तो खेलते ही नही तथा  मोबाइल के करण अनिद्रा का होना भी मोटापा को बढवा देता है !

समाधान 

बच्चो को अधिक से अधिक शारीरक गतिविधियों से जोड़े ! हर दिन बच्चो को 35 से 60 मिनट खेलकूद करने दे ! बच्चो को बेबी फैट मानकर नजरअंदाज न करे ! अपना प्रेम भोजन या अन्य सुविधाए देकर न जताए ! याद रखे की आपका प्रेम बच्चो के स्वस्थ को नुकसान पुहुचा सकता है ! जंक फ़ूड और डिब्बाबंद खाने को लेकर कड़े नियम बनाये और उनका पालन करे ! टीवी देखते हुये भोजन करने की आदत पर रोक लगाये !

तो आज के लिये इतना ही फिट रहो हिट रहो !

Previous Post
Next Post
Related Posts

0 Comments:

please do not enter any spam link in the comment box